विश्व मानसिक स्वस्थ्य दिवस – बिज़नेस मालिकों के लिए अकेलेपन और तनाव से जूझने के कुछ तरीक़े


अपने मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखें 

बिज़नेस मालिकों को कई उतार-चढ़ाव से गुज़रना पड़ता है। बिज़नेस में अच्छे और बुरे दिन दोनों होते हैं लेकिन काम चलता रहता है। कभी-कभी यह हार न मानने वाला रवैया आप के मानसिक स्वास्थ्य पर भारी पड़ सकता है, ख़ासकर अगर आप अकेला महसूस कर रहे हों। क्या आप जानते हैं कि बिज़नेस मालिकों के लिए अकेलापन महसूस करना आम बात है? 

एक स्टडी में पाया गया है कि स्टार्टअप संस्थापकों के डिप्रेशन जैसे कई मानसिक स्वास्थ्य मुद्दों से पीड़ित होने की संभावना कई गुना अधिक होती है। भारत में यह स्तिथि इतनी अलग नहीं है। Deloitte के अनुसार भारत में लगभग 80% कर्मचारी किसी न किसी मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी समस्या से पीड़ित हैं। इस डेटा के पीछे एक कारण बिज़नेस मालिकों सहित कामकाजी पेशेवरों के बीच अकेलापन है।

इस ब्लॉग में, हम एक सफल बिज़नेस का निर्माण करते समय अपना ख्याल रखने के कुछ आसान तरीक़ों पर एक नज़र डालेंगे।

विषय सूची

बिज़नेस और मानसिक स्वास्थ्य में संतुलन

फाउंडर (ख़ासकर एकल फाउंडर) के लिए, अपना ख्याल रखना पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण हो गया है। यदि आप अपना स्टार्टअप बनाने के शुरुआती चरण में हैं, तो प्रतिदिन घंटों तक काम करने का दबाव और निजी जीवन या पसंदीदा चीजों का त्याग आपके मन और शरीर दोनों पर प्रभाव डालता है।

आपके पास एक अच्छी टीम हो सकती है, और यहां तक ​​कि दोस्तों और परिवार के साथ समय भी बिता सकते हैं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप अकेलेपन का अनुभव नहीं करते हैं। और अगर आप दुखी होने की हद तक अकेलापन महसूस करने लगते हैं, तो समय आ गया है आपके काम करने के तरीक़ों में कुछ बदलाव करने का।

शिकागो विश्वविद्यालय द्वारा किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि जो लोग अकेलापन महसूस करते हैं उनका इम्यून सिस्टम संभवतः काम कारगर हो सकता है।

किसी भी क्षेत्र के व्यवसायी के लिए यह अच्छी ख़बर नहीं है। कंपनी को शुरू करना और उसे चलाना काफी ज़िम्मेदारी का काम है जिसके लिए आपका स्वस्थ रहना ज़रूरी है। इसीलिए बिज़नेस मालिकों को काम में तरक्की और अपनी खुद की मानसिक सेहत पर साथ-साथ ध्यान देना चाहिए।

अपने शारीरिक और मानसिक तंदरुस्ती का ख़्याल रखें

कई सफल बिज़नेस मालिकों ने अब अपने मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को प्राथमिकता देना शुरू किया है। क्योंकि वे जानते हैं कि यह अंततः यह आचरण उन्हें निजी जीवन और काम, दोनों में मददगार साबित होगा। 

पर आखिर बिज़नेस मालिक इस स्थिति को कैसे प्राप्त कर सकते हैं? ऐसा मन जाता है कि सबसे सफल व्यवसाय के मालिक वे होते हैं जो नेटवर्किंग बहुत अच्छे से करते हैं। नेटवर्किंग यानी सामाजिक मेलजोल बढ़ाने से आपकी सोच में सकारात्मकता आती है। यह सकारात्मकता फिर आपके काम और व्यक्तिगत जीवन में प्रवाहित होती है।

एक ऐसी जीवन शैली जीने से जिसमें आप अकेलेपन का मुकाबला करने के लिए सामाजिक संबंध बनाते हैं, आपकी सभी समस्याओं का समाधान नहीं होगा। लेकिन, यदि आप मेन्टल वेल्बींग को प्राथमिकता देने के लिए अपनी दिनचर्या में बदलाव पर ध्यान केंद्रित करते हैं, तो आपको तत्काल सुधार दिखाई देगा।

यह सबसे पहले छोटी चीजों से शुरू होता है, जैसे व्यायाम करना और अच्छा भोजन करना। काम से दूर, अपने और अपनों के साथ समय बिताना महत्वपूर्ण है। एक बार जब आप अपनी प्राथमिकताओं को पहचान लेते हैं, तो आपके पास काम और व्यक्तिगत जीवन, दोनों पर, अपना ध्यान केंद्रित करने के लिए आवश्यक ऊर्जा होगी।

5 तरीक़े अकेलेपन से जूझने के लिए

हमने आपके लिए अकेलेपन और चिंता से निपटने के लिए और मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने हेतु कुछ सरल तरीकों की एक लिस्ट तैयार की है।

1. नेटवर्क बनाएं 

नेटवर्किंग स्वस्थ दिनचर्या का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इससे आपको एक चिंताजनक स्थिति से बाहर निकलने और स्पष्टता बनाए रखने में मदद मिल सकती है।यदि आपके पास पहले से ही ऐसे दोस्त हैं जो अपना खुद का व्यवसाय चला रहे हैं, तो नियमित रूप से उनसे बात करें। भरोसेमंद लोगों के बीच अपनी चुनौतियों को साझा करने से आपकी सहायता हो सकती है।

ऐसे संस्थापकों से संपर्क करें, जो:

  • आपसे मिलता-जुलता लेकिन गैर-प्रतिस्पर्धी व्यवसाय चलाते हों 
  • आपके जैसी स्तिथि में हैं

भरोसेमंद लोगों को ढूंढने में और अच्छा नेटवर्क बनाने में कुछ समय लग सकता है। अपने तत्काल नेटवर्क से पूछकर शुरू करें कि क्या वे आपके समान स्तर पर किसी को जानते हैं। लेकिन इन बैठकों में भाग लेना और सतही स्तर पर अपनी चुनौतियों के बारे में बात करना भी आपको आश्वस्त करेगा कि आप अकेले नहीं हैं। 

2. अपने लिए समय निकालें 

उन तक पहुंचने और उन लोगों से बात करने से संकोच न करें जिन पर आप भरोसा करते हैं। परिवार, स्कूल/कॉलेज के दोस्त, आपके शहर के दोस्त और पिछले सहकर्मी आपको ज्यादातर लोगों से बेहतर जानते हैं। उन लोगों के साथ समय बिताएं जिन्हें आप ऊर्जावान पाते हैं और/या जो आपका समर्थन करते हैं। वे आपके लिए काम और जीवन से जुड़ी चुनौतियों से जूझने के लिए एक नया दृष्टिकोण ला सकते हैं जिनके बारे में आपने शायद नहीं सोचा हो।

3. मेडिटेशन (ध्यान) का अभ्यास करें

मेडिटेशन करने से कई मानसिक और शारीरिक लाभ होते हैं। आइए देखें कि यह हमारे व्यवहार को कैसे सकारात्मक रूप से प्रभावित करता है? ध्यान लगाने से आपकी समझने की क्षमता और मौखिक और गैर-मौखिक तर्क में सुधार कर सकता है।यह चिंता और डिप्रेशन के प्रभावों को कम कर सकता है। 

ध्यान नींद की गुणवत्ता में सुधार कर सकता है

ध्यान का अभ्यास शुरू करने के लिए, आप कुछ ऐप जैसे कि Headspace और Calm पर उपलब्ध कॉन्टेंट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

आप नीचे दिए गए सरल अभ्यासों का भी पालन कर सकते हैं:

  1. आराम से बैठें या लेटें। आप चेयर या कुशन का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  2. अपनी आँखें बंद करें। आप कूलिंग आई मास्क या आई पिलो ट्राई कर सकते हैं।
  3. सांस को नियंत्रित करने का कोई प्रयास न करें; बस स्वाभाविक रूप से सांस लें।
  4. अपना ध्यान सांस पर और साँस के साथ शरीर कैसे चलता है, इस पर केंद्रित करें।
  5. अपनी गति या तीव्रता को नियंत्रित किए बिना बस अपना ध्यान अपनी सांस पर केंद्रित करें। यदि आपका मन भटकता है, तो अपना ध्यान वापस अपनी सांस पर लौटाएं।
  6. इस व्यायाम को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाने का प्रयास करें। आप थोड़े समय के लिए इसका परीक्षण करके शुरू कर सकते हैं।

4. रोज़ाना व्यायाम करें

एक अच्छी व्यायाम दिनचर्या आपके मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का एक शानदार तरीका है। इसके अलावा, यह आपको एक्टिव बनने में मदद कर सकता है। आपका ध्यान लगाने की क्षमता बेहतर होती है और आत्मविश्वास भी बढ़ता है। यह सब मैनेजमेंट और नेतृत्व की क्षमताओं को ज़्यादा बेहतर बनाने में सहायक हो सकता है।

NCBI के एक अध्ययन में पाया गया कि नियमित व्यायाम से सोचने-समझने की क्षमता व स्मृति में काफी सुधार हो सकता है और तनाव कम हो सकता है।

व्यायाम को एक बोझ के रूप में देखने के बजाय, इसमें आप उन चीज़ों को शामिल करें जिन्हें आप पसंद करते हैं जैसे की वज़न उठाना, रस्सी कूदना, पैदल चलना, दौड़ लगाना, साइकिल चलना, इत्यादि। इससे आप फन और फिटनेस मिला के अपने स्वास्थ्य लक्ष्यों तक पहुंचते हैं। 

5. एक रूटीन बना के उसे फॉलो करें

आपकी निम्नलिखित गतिविधियों को अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं – 

  1. व्यायाम: काम से पहले 30 मिनट कार्डियो या वेट ट्रेनिंग लें।
  2. ध्यान: अपना मस्तिष्क साफ़ करें और ध्यान केंद्रित करें।
  3. नाश्ता: एक पौष्टिक नाश्ता आपको पूरे दिन के लिए तैयार कर देगा।
  4. जल्दी उठें: प्रत्येक दिन सुबह जल्दी जागने का प्रयास करें।
  5. ज्ञान बढ़ाएं: किताबें पढ़ें, या जिस कोर्स में आपने निवेश किया है उसका सही से अध्ययन करें।
  6. अपने लक्ष्यों की समीक्षा करें: इस बात की जांच करें की क्या आपने आज वह सब हासिल किया जो आप चाहते थे? 
  7. कल के लिए लक्ष्य निर्धारित करें: अगले दिन के लिए आपकी सर्वोच्च प्राथमिकताएं क्या हैं? अपने सबसे महत्वपूर्ण कार्य निर्धारित करें और उन्हें पूरा करने के लिए समय निर्धारित करें।
  8. मनोरंजन के लिए समय निकालें: काम से समय निकालें और कुछ ऐसा करें जिससे आपको खुशी मिले। जैसे की वीडियो देखना, खाना बनाना, खेलकूद, गानें सुनना, इत्यादि 
  9. परिवार के लिए समय निर्धारित करें: यदि आप एक बिज़नेस चलते हैं और आपके पति या पत्नी और/या बच्चे हैं, तो सुनिश्चित करें कि उन्हें आपका समय मिले जिसके वे हकदार हैं।

आपको आरंभ करने के लिए ये कुछ बुनियादी विचार हैं। अपनी सुबह और शाम की दिनचर्या के लिए दैनिक आधार पर समय निकालें और सुनिश्चित करें कि आप उनका निर्वाह करें।

निष्कर्ष

बिज़नेस मालिकों के लिए अपने मानसिक स्वास्थ्य और कल्याण की देखभाल करना प्राथमिकता होनी चाहिए। यदि आपका मस्तिष्क चिंता और तनाव से भरा हुआ है, तो आप अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर सकते।अपने जीवन के उन क्षेत्रों की पहचान करें जहाँ आप दिक्कत महसूस करते हैं। उन रूटीन को अपनाएं जो आपका तनाव और डिप्रेशन को दूर करते हैं। एक बार जब आप अच्छी आदतों को सफल दिनचर्या में बदल लेते हैं, तो अकेलेपन को रोकने के लिए सक्षम हो जाएंगे। इससे आपका व्यवसाय और व्यक्तिगत जीवन बेहतर बनेगा।

बिज़नेस से जुड़े और विषयों पर जानकारी के लिए आप हमारे इन ब्लोग्स को ज़रूर पढ़ें :
1. कंपनी क्रेडिट स्कोर के बारे में जानने योग्य 6 महत्वपूर्ण बातें
2. लगभग 50% भारतीय एमएसएमई पुराने दौर की बैंकिंग प्रणालियों के कारण समय बर्बाद करते हैं
3. इन 9 तरीकों से छोटे व्यवसायी बढ़ा सकते हैं इंस्टाग्राम पर अपना बिज़नेस
4. इन 11 तरीकों से स्मॉल बिज़नेस बढ़ा सकते हैं फ़ेसबुक पर लाइक और रीच
5. अपना बिज़नेस शुरू करने से पहले इन 6 बातों का ध्यान रखें

प्रतीक जोशी

प्रतीक जोशी

कॉन्टेंट एवं सोशल मीडिया मैनेजर

Subscribe to our FREE business tips newsletter

    I am a:

    By subscribing you agree to receive marketing communications from Tide.
    You can unsubscribe anytime using the link in the footer of any of our emails.
    See our privacy policy.

    Thanks for signing up.

    Related Articles

    Image of Tide card

    A business bank account that's free, easy to open, and helps you start doing what you love.

    Tide is about doing what you love. That’s why we’re trusted by 75,000+ UK businesses.